वसुंधरा राजे के बेटे दुष्यंत के कहने पर रिजॉर्ट आए थे विधायक? MLAs की बाड़ेबंदी पर बड़ा खुलासा: सियासी गतिरोध में नई चुनौती

राजस्थान में मुख्यमंत्री पद को लेकर सियासी हलचल तेज हो गई है। एक तरफ पूर्व सीएम वसुंधरा राजे हाईकमान से मुलाकात के लिए दिल्ली गई हैं, जबकि दूसरी तरफ उनके बेटे दुष्यंत पर रिजॉर्ट पॉलिटिक्स करने के आरोप लगे हैं।(MLAs की बाड़ेबंदी पर बड़ा खुलासा)

MLAs की बाड़ेबंदी पर बड़ा खुलासा

AR News Digital Desk, Rajasthan : राजस्थान को लेकर इस वक्त सबसे ज्यादा हलचल है। राज्य में विधायकों के बाड़ेबंदी मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। एक तरफ पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे हाईकमान से मिलने दिल्ली गई हैं, जबकि दूसरी तरफ उनके बेटे दुष्यंत पर रिजॉर्ट पॉलिटिक्स करने के आरोप लगे हैं। विधायक ललित मीणा के पिता हेमराज मीणा का आरोप है कि दुष्यंत सिंह के कहने पर विधायक रिजॉर्ट आए थे। (MLAs की बाड़ेबंदी पर बड़ा खुलासा) उन्होंने कहा कि विधायक कंवरलाल मीणा ने इन विधायकों को रोका। बता दें कि कंवरलाल मीणा बारां की अंता सीट से विधायक हैं। हेमराज मीणा ने कहा कि मैंने घटना की जानकारी सीपी जोशी दो दी।

वसुंधरा के बेटे पर क्या आरोप लगे?

ललित मीणा के पिता और पूर्व विधायक हेमराज मीणा ने कहा, मेरे बेटे और झालावाड़ बारां के विधायकों को वसुंधरा राजे के बेटे दुष्यंत सिंह जयपुर लेकर गए थे। शाम को ललित घर नहीं लौटा तो मैंने उससे बात की। ललित मीणा ने कहा कि वो लोग सीकर रोड पर एक रिजॉर्ट में हैं। उसके बाद हेमराज मीणा भी रिजॉर्ट पहुंच गए लेकिन यहां विधायकों ने कहा कि वो कार्यालय जाएंगे। इनमें से एक अंता के विधायक कंवरलाल ने सभी को रोका। कंवरलाल ने कहा कि दुष्यंत सिंह से बात करो।(MLAs की बाड़ेबंदी पर बड़ा खुलासा)

हेमराज मीणा ने बताया कि दुष्यंत सिंह ने 7 विधायकों से पार्टी कार्यालय में नहीं जाने के लिए कहा था। उन्होंने सभी से होटल में ही रुकने के लिए कहा था। इन 7 विधायकों में ललित मीणा भी थे, उन्होंने यह बात अपने पिता हेमराज को बताई। हेमराज अपने बेटे को होटल से ले गए और पार्टी महासचिव अरुण सिंह को सारा वाकया बताया।(MLAs की बाड़ेबंदी पर बड़ा खुलासा) हेमराज का कहना है कि यह पार्टी के अनुसाशन के खिलाफ है या नहीं, यह तो पार्टी के महासचिव अरुण सिंह ही बता पाएंगे। बाकी के 6 विधायक झालावाड़-बारां के बताए जा रहे हैं। इन सभी विधायकों को सीकर रोड़ के एक होटल में ठहराया गया था।

BJP प्रदेशाध्यक्ष और प्रभारी क्या बोले?

इस मामले में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी ने कहा कि होटल वगैरह की जानकारी मुझे नहीं है लेकिन यह सच बात है कि मंगलवार शाम को मेरी ललित मीणा के पिता से मुलाकात हुई थी। वहीं, प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने कहा कि मुझे ध्यान नहीं है और यह कोई खास बात भी नहीं है। कार्यकर्ताओं और विधायकों के लिए पार्टी कार्यलय मंदिर की तरह है, उन्हें यहां आस्था रखनी चाहिए।(MLAs की बाड़ेबंदी पर बड़ा खुलासा)

  • MLA ललित मीणा के पिता का कबूलनामा-
  • विधायकों को मिलने रिजॉर्ट बुलाया गया    
  • 7 विधायक मिलने गए थे
  • 3 झालवाड़, 3 बारां, 1 किशनगंज के MLA थे
  • दूसरी जगह पर शिफ्ट करना चाहते थे
  • पार्टी नेतृत्व को बताया गया, प्लान फेल
  • जेपी नड्डा से मुलाकात करेंगी वसुंधरा
  • इसी बीच वसुंधरा राजे दिल्ली आ चुकी हैं। उनके दिल्ली आते ही रिसोर्ट वाली घटना का खुलासा हो गया और अब उन्हें पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने तलब किया है। जानकारी के अनुसार, जेपी नड्डा ने वसुधंरा राजे को शाम 5 बजे अपने आवास पर मुलाकात के लिए बुलाया है।

मंगलवार को हुआ था पूरा ड्रामा

बताया जा रहा है कि आलाकमान वसुंधरा राजे से इस घटना को लेकर बेहद नाराज है। मंगलवार रात को भारतीय जनता पार्टी में हाईप्रोफाइल ड्रामा हुआ है। बताया जा रहा है कि बीजेपी कोटा संभाग के 5-6 विधायक सीकर रोड एक रिसोर्ट में रुके हुए थे। इन विधायकों ने रात में ही बहरोड़ जाने का प्लान बना लिया था। हालांकि बाद में बातचीत से मामला सुलझा लिया गया और उसके बाद सुबह 4 बजे उन विधायकों को वहां से निकाला गया। बताया जा रहा है ये सब प्रदेश के किसी बड़े नेता के कहने पर हुआ है।(MLAs की बाड़ेबंदी पर बड़ा खुलासा)

यह भी पढे

CarTrade OLX 2023 का ऑटो बिक्री कारोबार बंद करेगा

Leave a comment