सपनों की सचाई: इतनी सैलरी पर कार खरीदने की ख्वाहिश को बनाएं हकीकत, अद्भुत कैल्कुलेशन और कामयाबी की कहानी

AR News  Digital Desk, नई दिल्ली Car Affordability Calculator India: हर किसी का सपना होता है कि उसके पास खुद की कार हो। जब किसी की नौकरी लगती है वह कार खरीदने के लिए पैसे जोड़ने लगता है। इसके लिए लोन भी आपकी मदद करता है। इसमें काफी लोग ऐसे होते हैं जो कि कार खरीद लेते हैं लेकिन उसकी मैंटिनेंस और दूसरे एक्पेंस से काफी परेशान होते हैं।(सपनों की सचाई)

सपनों की सचाई

इसका सबसे अहम कारण है कि कुछ सिंपल कैल्कुलेशन करने में चूक जाते हैं और अपनी सैलरी के सही ब्रेक अप को नहीं समझ पाते हैं। ऐसे में उनके लिए काफी बड़ी समस्या आ जाती है। इससे न सिर्फ आपकी बजट बिगड़ता है बल्कि लोन की वजह से एक और लोन लेना पड़ जाता है जो कि काफी खतरनाक साबित हो सकता है।

Chandra Grahan 2023:  भारत के कुछ खास स्थानों में दिखेगा चंद्र ग्रहण का अद्भुत नजारा

इस लेख में कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं जिससे कार खरीदने के कैल्कुलेशन करना जरुरी है। इसके लिए हमें ये देखना जरुरी होगा कि इससे मासिक इनकम कितनी है और प्रत्येक माह होने वाली खर्चा क्या है। इन सभी बातों को ध्यान में रखकर फॉर्मूले के तहत हमें कार खरीदने के बारे में विचार करना होगा। चलिए बता दें कि कार खरीदने के लिए क्या कैल्कुलेशन सही है।(सपनों की सचाई)

सालाना इनकम और कार की क्या है कीमत

कार को खरीदते समय ये काफी जरुरी होता है कि आपकी सालान इनकम कार की कीमत से 40 फीसदी ज्यादा हो। जैसे कि आपकी सालाना इनकम 10 लाख हैं तो कार की कीमत 4 लाख रुपये होनी चाहिए। अब इसमें भी हमें ये ध्यान रखना जरुरी है कि अगर आप इस इनकम पर कोई और भी लोन ले सकते हैं। वहीं आपकी सालाना इनकम टोटल से काटना होगा।

जानें क्या है मासिक इनकम और किस्त

अगर आप कार के लिए लोन लेते हैं तो आपकी किस्त का रेशियो आपकी मासिक इनकम से ज्यादा न हो। यहां पर ये ध्यान रखना है कि आपकी मासिक इनकम 30 फीसदी से ज्यादा आपकी कार की किस्त न हो। उदाहरण के तौर पर अगर आपकी मासिक इनकम 70,000 रुपये है तो आपकी कार की किस्त 21 हजार रुपये से ज्यादा न हो।

डाउन पेमेंट कम करें

अगर आप किस्त का भार ज्यादा नहीं चाहते हैं तो इसके लिए कार खरीदते समय ज्यादा डाउनपेमेंट न करें। हो सके तो आपको डाउनपेमेंट की कीमत से 30 फीसदी ही डाउनपेमेंट ही रखें। इससे आप पर लोन का भार काफी कम होगा और किस्त की रकम काफी कम होगी।(सपनों की सचाई)